Qayamat Toot Padti Hai Zara Se Honth Hilane Par

Qayamat Toot Padti Hai Zara Se Honth Hilane Par,
Na Jaane Hashr Kya Hoga Agar Wo Muskuraaye To.

क़यामत टूट पड़ती है ज़रा से होंठ हिलने पर,
ना जाने हश्र क्या होगा अगर वो मुस्कुराये तो।

Khoob Parda Hai Ki Chilman Se Lage Baithe Hain,
Saaf Chhupte Bhi Nahin Samne Aate Bhi Nahin.

ख़ूब पर्दा है कि चिलमन से लगे बैठे हैं…
साफ़ छुपते भी नहीं सामने आते भी नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *