Ye Baarish Ka Mausam Bahut Tadapaata Hai

ये बारिश का मौसम बहुत तड़पाता है,
वो बस मुझे ही दिल से चाहता है,
लेकिन वो मिलने आए भी तो कैसे…?
उसके पास न रेनकोट है और ना छाता है।

Ye Baarish Ka Mausam Bahut Tadapaata Hai,
Woh Bas Mujhe Hi Dil Se Chaahata Hai,
Lekin Vo Milane Aae Bhi To Kaise…?
Usake Paas Na Renakot Hai Aur Na Chhaata Hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *