friendship shayari best friend

न जाने किस मिट्टी से खुदा ने तुमको बनाया है,
अनजाने में इक ख्वाब इन आँखों को दिखाया है,
मेरी हसरत थी हमेशा से खुदा से मिलने की दोस्त,
शायद इसीलिये किस्मत ने मुझे तुमसे मिलाया है।

 

Na Jaane Kis Mittee Se Khuda Ne Tumako Banaaya Hai,
Anajane Mein Ek Khwaab In Aankhon Ko Dikhaaya Hai,
Meri Hasarat Thi Hamesha Se Khuda Se Milane Ki Dost,
Shaayad Isiliye Kismat Ne Mujhe Tumase Milaaya Hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *