Dard Bhari Shayari In Hindi 160 Words

Bichhad Ke Tum Se Zindagi Saza Lagati Hai,
Yeh Saans Bhi Jaise Mujh Se Khafa Lagati Hai,
Tadap Uthata Hoon Dard Ke Maare,
Zakhmon Ko Jab Tere Shahar Kee Hava Lagati Hai,
Agar Ummid-E-Wafa Karoon To Kis Se Karoon,
Mujh Ko To Meri Zindagi Bhi Bewafa Lagati Hai.


बिछड़ के तुम से ज़िंदगी सज़ा लगती है,
यह साँस भी जैसे मुझ से ख़फ़ा लगती है,
तड़प उठता हूँ दर्द के मारे,
ज़ख्मों को जब तेरे शहर की हवा लगती है,
अगर उम्मीद-ए-वफ़ा करूँ तो किस से करूँ,
मुझ को तो मेरी ज़िंदगी भी बेवफ़ा लगती है।

Read Similar Shayaris: Dard Bhari Shayari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *